feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

आईये एक नया खेल खेले.....

.

आज मे एक फ़ोरम पर भटकता भटकता पहुचां, वहां एक बहुत सुंदर आईडिया देखा... यानि एक अति सुंदर खेल, सो़चा चलिये आप सब के संग भी खेले.


यह खेल वेसे तो हम बचपन मे भी खेलते थे, लेकिन अब भुल गये थे, तो वहां जा कर याद आ गया, यह खेल ऎसा हे कि हम एक फ़िल्म का नाम आप को यहां बतायेगे, आप ने उस से मिलता जुलता ही जबाब लेकिन फ़िल्म के नाम से ही देना हे, किसी भी भरतिया फ़िल्म का, एक जबाब बार बार भी दे सकते हे, यानि एक नाम कई बार ले सकते हे, लेकिन वो जबाब मिलना चाहिये.... उदाहरण के तोर पर...

चलती का नाम गाडी...... जबाब... विकटोरिया ना० २०४....
ऎसे ही एक लम्बी कतार मे जबाब पर जबाब देते जाये, जिस का जबाब सही मेल नही खायेगा, उसे टॊक कर आप आगे जबाब दे सकते हे, लेकिन गलत टोकने वाले के भी ना० कम होते जायेगे, ओर जिस के सभी जबाब सही मेल खायेगे वो विजेता होगा.
तो शुरु करे....
डोली सजा के रखना..... जबाब,,,,,,?

13 टिपण्णी:
gravatar
राज भाटिय़ा said...
11 January 2011 at 6:35 PM  

डोली सजा के रखना.... अरे आगे भी जोडे ना किसी फ़िल्म का नाम, जेसे...?

gravatar
मनोज कुमार said...
12 January 2011 at 2:42 AM  

दिल वाले दुल्हनिया ले जाएंगे।

gravatar
निर्मला कपिला said...
12 January 2011 at 5:17 AM  

राजा की आयेगी बारात

gravatar
अन्तर सोहिल said...
12 January 2011 at 6:26 AM  

बैंड बाजा बारात

gravatar
mrityunjay kumar rai said...
12 January 2011 at 7:53 AM  

aashayein

gravatar
राज भाटिय़ा said...
12 January 2011 at 8:59 AM  

दुर गगन की छांव मे..

gravatar
Learn By Watch said...
13 January 2011 at 5:26 AM  

प्रिय,

भारतीय ब्लॉग अग्रीगेटरों की दुर्दशा को देखते हुए, हमने एक ब्लॉग अग्रीगेटर बनाया है| आप अपना ब्लॉग सम्मिलित कर के इसके विकास में योगदान दें - धन्यवाद|

अपना ब्लॉग, हिन्दी ब्लॉग अग्रीगेटर
अपना ब्लॉग सम्मिलित करने के लिए यहाँ क्लिक करें

gravatar
Dimple Maheshwari said...
13 January 2011 at 2:56 PM  

जय श्री कृष्ण...आप बहुत अच्छा लिखतें हैं...वाकई.... आशा हैं आपसे बहुत कुछ सीखने को मिलेगा....!!

gravatar
डॉ. मनोज मिश्र said...
13 January 2011 at 5:21 PM  

जट यमला पगला....

gravatar
राज भाटिय़ा said...
13 January 2011 at 6:00 PM  

लफ़ंगे....

gravatar
अन्तर सोहिल said...
14 January 2011 at 6:13 AM  

कमीने

gravatar
राज भाटिय़ा said...
14 January 2011 at 9:22 AM  

जानवर

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:10 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय