feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

एक तकनीक मदद चाहिये...

.

नमस्कार, मुझे एक तकनीक मदद चाहिये, ओर ब्लांग जगत मे एक से बढ कर एक् तकनीकी जान कार मोजूद है,पिछले महीने मेरे बेटे ने एक मोबाईल फ़ोन खरीदा था "sony ericsson w995 " जिस मे प्रिपेड कार्ड मै डलवा देता था, ओर जिसे बच्चे काफ़ी दिन चला लेते थे, लेकिन पिछले दिनो दोनो बच्चो को एक बहुत ही अच्छी ओफ़र मिली जिस मै टाप का मोबाईल ओर हर महीने १०० मिंट फ़्रि, १५० SMS भी फ़्रि है, तो दोनो बेटो ने उस आफ़र से नये मोबाईल ले लिये, अब जो मोबाईल पिछले महीने खरीदा, उसे अगर बेचे तो आधे पेसे मिलते है, उसे मैने रख लिया.

उस मोबाईल मै इंटर्नेट भी चल सकता है, मैने जब कोशिश की तो मजे से इंटर्नेट मै पहुच गया, लेकिन सत्यनाश हो इन का, क्योकि मै उस मै हिन्दी तो पढ ही नही सकता, तो आप मै से कोई महान तकनीकी मुझे मार्ग दर्शन देगा कि मै केसे हिन्दी का फ़ंट अपने मोबाईल पर इंस्टाल कर लू, ओर कोन सा जिस से मै अपने इस नये मोबाईल पर अपने चिट्टॆ आप सब के चिट्टॆ भी पढ सकू.

जब मै मेल पढने के लिये गया तो हिन्दी की जगह चकोर सी डिब्बियां ही आती है, कोई इलाज हो तो बताये, आप का धन्यवादी होऊंगा

11 टिपण्णी:
gravatar
जी.के. अवधिया said...
21 May 2010 at 11:39 AM  

शायद यहाँ से कुछ मदद मिल पायेः

http://www.sonyericsson.com/cws/support/phones/detailed/phonesetupwap/w995?cc=in&lc=en

gravatar
वीनस केशरी said...
21 May 2010 at 11:52 AM  

MAINE TO SUNA HAI SONY ME HINDI KI SUVIDHAA NAHI HAI
KOI JUGAAD HO TO MUJHE NAHI PATAA

APAG OPERA MINI YA OPERA 10 INSTAAL HO JAAYE TO SHAYD KAAM BAN JAAYE

gravatar
दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...
21 May 2010 at 11:56 AM  

इस मामले में रवि रतलामी जी मदद कर सकते हैं।

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
21 May 2010 at 12:42 PM  

अपने लिये तो काला अक्षर भैंस बराबर.

रामराम.

gravatar
पी.सी.गोदियाल said...
21 May 2010 at 2:52 PM  

ज्यादा जानकारे मुझे भी नहीं मालूम भाटिया साहब मगर उसमे कोई सॉफ्टवेर लोड करना पड़ता है, हिंदी फॉण्ट के लिए !

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
21 May 2010 at 2:58 PM  

इस मामले में तो हम भी अनाड़ी हैं ..

gravatar
डॉ. मनोज मिश्र said...
21 May 2010 at 5:51 PM  

हमें भी नही पता सर जी.

gravatar
TARANAGAR STARCITY said...
21 May 2010 at 6:12 PM  

DIBBO MEIN KYA RAKHA HAI SAMNE WALE KE BHAWANAO KO SAMJHO. MSG APANE AAP SAMJH MEIN AA JAYEGA. JAYADA HI SAMJHA MEIN NAHIN AATA HO TO ES MOBILE KO HAMEIN DE DO.
SHANKER TARANAGARI

gravatar
पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
21 May 2010 at 7:51 PM  

भाटिया जी, ये कोई फान्ट फून्ट की प्रोबलम नहीं है...आपके मोबाईल पर किसी भूत प्रेत का साया पड चुका है...कुछ दिन लगातार सुबह शाम इसके सामने हनुमान चालीसा का पाठ करें या किसी ओझा को दिखाईये तो ही मामला सुल्टे :-)

gravatar
प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI said...
22 May 2010 at 12:30 AM  

राज जी !
यह टोटके आजमाए !

सबसे पहले यह जान ले कि मोबाइल के डिफाल्ट ब्राउजर में हिन्दी आप चाहकर भी ना पढ़ पायेंगे |

इसके लिए आप ओपेरा मिनी डाउनलोड कर ले |

फिर ओपेरा मिनी को चला कर उसके एड्रेस बार में केवल opera:config टाईप करें |

उसमे कई आप्सन आयेंगे ....फिर उसमे सबसे अंतिम काम्प्लेक्स स्क्रिप्ट बिटमैप फॉण्ट के आप्सन को यस कर दें |

उसके बाद आप हिन्दी पढ़ पायेंगे |

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:21 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय