feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

एक पहेली बूझॊ तो जाने, जबाब

.

आप सभी को बहुत बहुत बधाई, आप सब ही प्रथम विजेता है, आप सब ने सही जबाब दिया, असल मै मुझे भी नही पता था यह सब, लेकिन मां ओर बेटे आपिस मै फ़ुस फ़ुस बाते कर रहे थे, ओर मुस्कुरा रहे थे... मुझे कुछ गडबड लगी कि कही महिला आरक्षण का खतरा तो मेरे घर मै नही आ गया, फ़िर बीबी की दोनो कलाईयां देखी, अरे यह तो नये वाली चुडियां है जो मै अभी बनवा कर लाया हुं, क्या किसी पार्टी पर जाना है? ओर तभी बीबी जी को गुस्सा आ गया ओर बोली कोन सा महीना है? मेने गिन कर बताया अरे मार्च है ना, ओर तारीख अरे ११ है ना, लेकिन यह सब तुम सुबह से कई बार पुछ बेठी हो... तो तुम्हे कुछ भी नही याद..... ओर सच मै मुझे कुछ भी नही याद था..... बीबी ने फ़िर हमारा शादी का कार्ड मुझे दिखाया, अरे यह किस का है? ओर जब देखा तो मुझे बहुत हंसी आई, ओर फ़िर मेने बीबी से माफ़ी मांगी की मै तो पहली बार भूला हुं, तो बीबी ने कहा तुम तो हर साल यही कहते हो.
अब कल हम सब चारो जने घर पर एक छोटी सी पार्टी करेगे, आप सब भी आये आप सब का स्वागत है

21 टिपण्णी:
gravatar
दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...
12 March 2010 at 2:54 PM  

तो नई चूड़ियों की सौगात भाभी जी तक पहुँच गई। भाभी को नई चूड़ियाँ मुबारक हों।
पार्टी कल करेंगे ना? कल हम भी यहाँ पार्टी करे लेते हैं।

gravatar
जी.के. अवधिया said...
12 March 2010 at 2:56 PM  

शादी की सालगिरह की एक बार फिर से बधाई!

पर आगे से भूलने की गलती नहीं करने का ... क्या?

gravatar
dhiru singh {धीरू सिंह} said...
12 March 2010 at 3:14 PM  

aapko dhero shubhkaamnaye . dawat due hai . vaese aapko yah taarikh yaad kyo nahi

gravatar
पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
12 March 2010 at 3:57 PM  

ओर फ़िर मैने बीबी से माफ़ी मांगी की मै तो पहली बार भूला हुं

भाटिया जी! अब इतना तो बता देते कि माफी कैसे माँगी....कान पकड के, नाक रगड के या सिर्फ हाथ जोडने से ही काम चल गया :-)

gravatar
RaniVishal said...
12 March 2010 at 4:01 PM  

Vaivahik varshgaanth ki bahut bahut shubhkaamnaae aap dono hi ko ..!!

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
12 March 2010 at 4:34 PM  

शादी की सालगिरह बहुत बहुत मुबारक हो जी. भाभी जी बहुत नेक खयाल हैं. अगर हम भूल जाते तो ताई यह पोस्ट लिखने लायक नही छोडती.:)

रामराम.

gravatar
महेन्द्र मिश्र said...
12 March 2010 at 4:46 PM  

पहेली का उत्तर है शादी की सालगिरह .... .. शादी की सालगिरह पर बधाई और शुभकामनाये और मिठाई की प्रतीक्षा में ..

gravatar
सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी said...
12 March 2010 at 5:27 PM  

बधाई... बधाई... बधाई...

gravatar
Udan Tashtari said...
12 March 2010 at 6:57 PM  

एक बार फिर से बधाई! पार्टी एन्जॉय करिये.

gravatar
विनोद कुमार पांडेय said...
12 March 2010 at 8:21 PM  

राज जी आपके जीवन की इस शुभ घड़ी के वर्षगाँठ पर दिल से बधाई...

gravatar
ललित शर्मा said...
12 March 2010 at 8:22 PM  

shadi kii salgirah mubark ho.

gravatar
डॉ महेश सिन्हा said...
12 March 2010 at 8:43 PM  

बधाई हो बधाई
एक एक लड्डू मेरी तरफ से और खाइये

gravatar
seema gupta said...
13 March 2010 at 3:53 AM  

शादी की सालगिरह की एक बार फिर से बधाई!


regards

gravatar
निर्मला कपिला said...
13 March 2010 at 4:17 AM  

शादी की सालगिरह की एक बार फिर से बधाई!भाभी जी को नई चुडियाँ मुबारक । पार्टी तैयार रखें हम आ रहे हैं ।शुभकामनायें

gravatar
Gagan Sharma, Kuchh Alag sa said...
13 March 2010 at 4:36 AM  

aisee bhuul kabhii-kabhii bahut mahagii padatee hai :)
badhaai ho.

gravatar
Mithilesh dubey said...
13 March 2010 at 5:09 AM  

मुझे भी बधाई हो ।

gravatar
श्याम कोरी 'उदय' said...
13 March 2010 at 9:31 AM  

...बहुत बहुत बधाईंया व शुभकामनाएं !!!!

gravatar
अन्तर सोहिल said...
13 March 2010 at 1:31 PM  

अब पार्टी की फोटो भी दिखाईयेगा जी
और हुक्का गुडगुडाया या नही आपने
उसकी फोटो भी नही दिखाई अभी तक

प्रणाम जी

gravatar
मनोज कुमार said...
14 March 2010 at 3:13 AM  

राज जी कुछ अति व्यस्त कर्यक्रमों के चक्कर में ब्लॉग पर आना न हुआ!
बहुत-बहुत बधाइयां और शुभकामनाएं!!

gravatar
BrijmohanShrivastava said...
15 March 2010 at 10:02 AM  

बधाई और शुभकामनाएं

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:25 AM  



दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय