feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

जी यह नींद की गोलिया आप के लिये है

.

पति... तुम मेरी जिन्दगी हो !!
पत्नि.... अच्छा ओर क्या ?
पति.... चुप.
पत्नि..... ओर क्या बोलो ना ?
पति......फ़िर भी चुप
पत्नि..... ओर भी जोर से चीखी बोलो ओर क्या ?
पति...... ओर लानत है ऎसी जिन्दगी पर
******************************************************
एक आदमी अपने आप को ही खत लिख कर पोस्ट किया, दोस्तो ने पुछा कि क्या लिखा है ?
आदमी बोला पता नही अभी मुझे मिला थोडे ही है.
****************************************************
ताऊ दसवी के पेपर देने गया, ओर पेपर देख कर बहुत परेशान सा दिखा, टीचर ने पुछा बेटा पेपर कठीन लगा कया ? ताऊ बोला नही जी, टिचर ने पुछा फ़िर परेशान क्यू हो बेटा ? ताऊ बोला जी समझ मै नही आ रहा इस सवाल का जबाब कोन सी पर्ची मै है...
*********************************************************
एक आदमी बहुत बिमार पड गया, ओर डाकटर को घर बुलाया गया....
डाकटर ने सारा चेक अप किया, ओर उस आदमी की वीवी से बोला देखिये मेने सब चेक अप कर लिया है आप के पति को सख्त आराम की जरुरत है मेने यह नींद की गोलिया लिख दी है, आप दुकान से मंगवा ले. उस आदमी की वीवी बीच मै ही बोल पडी... लेकिन डाकटर साहब यह गोली देनी केसे है?
डाकटर साहब... जी यह नींद की गोलिया आप के लिये है

26 टिपण्णी:
gravatar
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...
14 July 2009 at 5:02 AM  

भई वाह....
बहुत बढ़िया!

gravatar
seema gupta said...
14 July 2009 at 5:09 AM  

ha ha ha ha ha ha taau ji ne raampyari ki class attend nahi ki lagta hai ha ha "

regards

gravatar
Udan Tashtari said...
14 July 2009 at 5:16 AM  

हा हा!! बहुत मजेदार...नींद की गोली तो इधर कोई दे जाये इनको.. :)

gravatar
bhawna said...
14 July 2009 at 5:19 AM  

hi hi hi hi hansi ruk nahin rahi . aap itane majedaar chutkule kahan se khoj nikaalte hai ? bahut aanand aya , dhanyavaad

gravatar
कुश said...
14 July 2009 at 5:20 AM  

हा हा हा सुबह सुबह मुस्कराहट ले आये आप तो चेहरे पर..

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
14 July 2009 at 5:44 AM  

और जवाब वाली पर्ची आपने दबा रखी थी?:)

रामराम.

gravatar
P.N. Subramanian said...
14 July 2009 at 5:44 AM  

बहुत मजेदार. आभार..

gravatar
पंकज सुबीर said...
14 July 2009 at 6:08 AM  

लानत है वाला चुटकुला निर्मल आनंद का है । आनंद आ गया ।

gravatar
Anil Pusadkar said...
14 July 2009 at 6:13 AM  

मज़ा आ गया।

gravatar
mehek said...
14 July 2009 at 6:20 AM  

ha ha bahut mazedar,tau ji seema ji sahi kewe hai,rampyari ki class mein jana padega:)

gravatar
डॉ. मनोज मिश्र said...
14 July 2009 at 6:47 AM  

मज़ा आ गया......

gravatar
Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
14 July 2009 at 7:18 AM  

लानत है ऎसी जिन्दगी पर!!! हा हा हा.......

gravatar
रंजन said...
14 July 2009 at 7:26 AM  

हा हा..

gravatar
काजल कुमार Kajal Kumar said...
14 July 2009 at 7:40 AM  

संते को दो बम्ब मिले.
बंते को बताया -"एक बम्ब मिला है , चल पुलिस को दे आएं"
बंता-"रिस्की है, अगर फूट गया तो ?"
संता-"वे खोत्तेआ, दूजा जेब विच कानू रखेआ ए "
:-/)

gravatar
सुशील कुमार छौक्कर said...
14 July 2009 at 7:58 AM  

मजेदार।

gravatar
Murari Pareek said...
14 July 2009 at 10:45 AM  

ha ha .. neend ki goliyaan patni ko taklif pati ko!!

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
14 July 2009 at 10:54 AM  

हा...हा..... हा..... लाजवाब भाटिया जी.......... मज़ा आ गया.........

gravatar
Murari Pareek said...
14 July 2009 at 10:54 AM  

chaliye kuchh stock jamaa ho rahaa copy right act mat lagaa dijiyega bhatiyaji mere pe??

gravatar
Murari Pareek said...
14 July 2009 at 11:05 AM  

आपकी इस साईट में, टिपण्णी करताओं की तस्वीर आपस मैं बहुत मिलती हैं!!

gravatar
महेन्द्र मिश्र said...
14 July 2009 at 5:01 PM  

नींद की गोलियो वाला जोग बहुत ही अच्चा लगा. आभार.

gravatar
अनिल कान्त : said...
14 July 2009 at 5:11 PM  

ha ha ha ha..........majedar

gravatar
सैयद | Syed said...
15 July 2009 at 5:00 PM  

हा हा हा

gravatar
Pakhi said...
15 July 2009 at 5:48 PM  

Ap to majedar chutkule likhte hain..hi..hi..

gravatar
Babli said...
16 July 2009 at 12:59 PM  

हा हा हा ..बहुत मज़ा आया!

gravatar
'अदा' said...
17 July 2009 at 5:02 AM  

मज़ा आ गया......
ha ha ha ha

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:51 AM  



दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय