feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हम कुछ नही बोलेगे???

.

भगवान न करे मेरे देश को कोई भी ऎसा नेता मिले, जो आप तो डुबे जनता को भी ले डुबे....











































12 टिपण्णी:
gravatar
Alag sa said...
14 December 2008 at 12:44 PM  

सभी चित्रों का तो यह हाल है कि :-
बिनु पद च ल ई, सु न ई बिन काना।
कर बिनु करम क ई हू विधि नाना।
बिन बोले बहुत कुछ बोल रहे हैं।

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
14 December 2008 at 1:01 PM  

भाटिया साहब इसमे से ८०% के तो हम गवाह हैं बाकी भी जब आपने फ़ोटु लिये हैं तो सही ही होंगे !:)

राम राम !

gravatar
प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर said...
14 December 2008 at 2:26 PM  

वाह भाई वाह!!!!!!
यही है बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर!!!!


प्राइमरी का मास्टर का पीछा करें

gravatar
mehek said...
14 December 2008 at 2:47 PM  

har tasveer ne apni kahani keh di,kuch kehna baki kaha,khudakare aisa na ho,aise neta to bilkul na ho.

gravatar
विष्णु बैरागी said...
14 December 2008 at 3:06 PM  

बोलते चित्रों का खजाना है । कुछ चित्र तो अद्भुत और अनूठे हैं ।
इनमें से किसी का उपयोग करें तो आपको कोई आपत्ति/असुविधा तो नहीं होगी ? बताइएगा । उपयोग करते समय आपका और आपके ब्‍लाग का नामोल्‍लेख सुनिश्चित रूप से किया जाएगा और यह उपयोग विज्ञापन के लिए नहीं होगा ।

gravatar
राज भाटिय़ा said...
14 December 2008 at 3:14 PM  

विष्णु बेरागी जी आप मेरे किसी भी बांलाग से कुछ भी ले सकते है, क्योकि यह फ़ोटो मेने भी इधर उधर से लिये है.
धन्यवाद

gravatar
समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...
14 December 2008 at 3:30 PM  

Raj ji ye tashveere hamare hi desh ki ho sakati hai . dekhakar anand gaya.

gravatar
सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी said...
14 December 2008 at 7:38 PM  

बहुत सच्ची तस्वीरें हैं। बधाई।

gravatar
Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
15 December 2008 at 9:44 AM  

भाटिया जी, तस्वीरें तो आपने खूब चुन चुनकर लगाई है.कहने को कुछ बाकी बचा ही नहीं

gravatar
sandhyagupta said...
15 December 2008 at 9:45 AM  

kai baar tasviren vo bol jati hain jinhe shabdon me bayan karna kathin hota hai.

gravatar
Atmaram Sharma said...
16 December 2008 at 3:45 PM  

kmal ke photo hain. desh ki tasveer ka ek yah bhi phloo hai.

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 6:28 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय