feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

वो सुबह कभी तो आयेगी.........

.

आज बस... यही...... इस शुभ दिन के अवसर पर........

आओ मिल कर जगाये इस सरकार को हम इतने भी बेबस नही,सरकार हम से है हम सरकार से नही, अगर इसे चुना है तो अपनी सुरक्षा के लिये अपने लाभ के लिये, तो आप जाग्रुक हो ओर बाकी जनता को जागरुक करे, हम आजाद है.... ओर आजाद रहेगे, आप मिल कर कदम बढाये ओर इन घटोलेवाजो को देश के दुशमनो को इन की ओकात दिखाये...... जय हिन्द
आप सब को स्वतंत्रता दिवस की बधाई और शुभकामनाएं।

13 टिपण्णी:
gravatar
dhiru singh {धीरू सिंह} said...
15 August 2010 at 6:29 AM  

उम्मीद पर दुनिया कायम है . उम्मीद के कारण ही तो आज़ादी जश्न मना रहे है .

gravatar
निर्मला कपिला said...
15 August 2010 at 7:05 AM  

फिर से नयी सुबह जरूर आयेगी। स्वतंत्रता दिवस की बधाई और शुभकामनाएं। अच्छी प्रस्तुति के लिये बधाई। जय हिन्द

gravatar
वन्दना अवस्थी दुबे said...
15 August 2010 at 10:31 AM  

सुन्दर गीत. आभार.
स्वाधीनता दिवस की अनन्त शुभकामनाएं.

gravatar
Ravi Rajbhar said...
15 August 2010 at 12:08 PM  

Bahut sunder geet hain sir ji,
JAI HIND

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
15 August 2010 at 12:12 PM  

स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर हार्दिक अभिनन्दन एवं शुभकामनाएँ.

रामराम.

gravatar
प्रवीण पाण्डेय said...
15 August 2010 at 1:42 PM  

इसी उम्मीद में कल फिर निकलेगा सूरज और डूह जायेगा फिर से नाकामी का आलम देखकर।

gravatar
प्रवीण पाण्डेय said...
15 August 2010 at 1:44 PM  

*डूब जायेगा

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
15 August 2010 at 3:04 PM  

लाजवाब गीत है यह ...
आपको स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ ....

gravatar
महेन्द्र मिश्र said...
15 August 2010 at 5:17 PM  

स्वतंत्रता दिवस पर हार्दिक बधाई....

gravatar
राम त्यागी said...
16 August 2010 at 5:51 AM  

आपको भी स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ :)

gravatar
ज्योति सिंह said...
16 August 2010 at 12:06 PM  

bahut arthpoorn aur madhur geet hai ,haardik badhai sweekaare aazaadi ke shubh avasar par .

gravatar
hem pandey said...
22 August 2010 at 1:02 PM  

इस सुन्दर और सामयिक गीत को सुनवाने के लिए धन्यवाद.

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:16 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय