feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

इक लडकी थी दिवानी सी,

.

अजी यह भी मेरी नही, ओर पता नही किस की है, जब कोई बोलेगा तो भाई हम इसे हटा देगे...
धन्यवाद
Image Hosted by ImageShack.us

इक लडकी थी दिवानी सी,
मोबाईल ले कर वो चलती थी
नजरे झुका के
शरमा के
मोबईल मे जाने क्या देखा करती थी
कुछ कहना था शायद उस को
पर जाने किस से डरती थी
जब भी मिलती थी मुझ से
अकसर यह पुछा करती थी
यह चलता केसे है?
यह चलता केसे है?
Image Hosted by ImageShack.us

16 टिपण्णी:
gravatar
Udan Tashtari said...
11 March 2009 at 2:25 AM  

सीखा दो भई!!

आपको होली की मुकारबाद एवं बहुत शुभकामनाऐं.
सादर
समीर लाल

gravatar
अनूप शुक्ल said...
11 March 2009 at 3:38 AM  

मजेदार! होली मुबारक!

gravatar
dhiru singh {धीरू सिंह} said...
11 March 2009 at 3:55 AM  

waah waah . आपने तो bta dia होगा,आपको होली की मंगल कामना

gravatar
mehek said...
11 March 2009 at 5:17 AM  

:):)badhiya

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
11 March 2009 at 5:19 AM  

बहुत मजेदार जी.आपको परिवार सहित होली की घणी रामराम.

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
11 March 2009 at 5:20 AM  

शादी की सा्लगि्रह की हार्दिक बधाईयां जी.

gravatar
प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर said...
11 March 2009 at 11:12 AM  

होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली - हैप्पी होली !!!

होली की शुभकामनाओं सहित!!!

प्राइमरी का मास्टर
फतेहपुर

gravatar
प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर said...
11 March 2009 at 11:12 AM  

होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली - हैप्पी होली !!!

होली की शुभकामनाओं सहित!!!

प्राइमरी का मास्टर
फतेहपुर

gravatar
P.N. Subramanian said...
11 March 2009 at 2:44 PM  

बहुत सुन्दर. होली की शुभकामनायें

gravatar
Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
11 March 2009 at 4:00 PM  

बहुत बढिया.........होली मुबारक

gravatar
HEY PRABHU YEH TERA PATH said...
11 March 2009 at 6:18 PM  

आदरणीय भाटिया जी,
नमस्कार!
आज दो-दो बधाइयॉ देने आया हु।
सबसे पहले होली और आज घुलेटी कि खुब-खुब बधाई देता हु।
आज आपकि शादी की साल+गिरह=सालगिरह है ऐसा ताऊ पुरे गॉव मे ढिढोरा पिट रहे है, जबकि मैने तो सबको अभी तक यही बताया है कि राजभाई अभी कुवारे है, अभी तो समय है शादिवादी के लिये। क्यो कि राजभाई कि तो उम्र भी अभी छोटी है। और खेलने कुदने कि उम्र है। पर यह ताऊ कि खोपडि कि खुरापत से सभी बने बानाऐ काम बिगाड दिऐ राज भाई आपके। ( क्षमा ठिठोलि के लिये)
आ, राजभाई+भाभीजी, आपको सादी कि शालगिरह पर मेरे पुरे परिवार कि तरफ से आपको हार्दिक मगल कामनाऐ, शुभकामनाऐ। और उम्मीद करता हु जब आपकी शादि कि ५० वी सालगिरह होगी उस समय हम पुरा हिन्दि ब्लोग जगत आपके कनाडा आऐगे और आपके साथ आपकि खुशियो मे भी शामिल होगे। उस वक्त अगर ताऊ भी आऐगा तो उसे वहॉ के चिडीयाघर मे जमा करवा आऊगा, बडा मजा आऐगा, हा.....हा......हा......हा......
HaPpY AnNiVeRsArY 2 U
HaPpY AnNiVeRsArY 2 U
HaPpY AnNiVeRsArY 2 U

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
12 March 2009 at 12:51 AM  

जिसकी भी है भाटिया जी.......अच्छी है मजेदार है
गाने की याद करा गयी, "कत्थई आँखों वाली एक लड्की"

Shadi ki saalgirah mubarak

gravatar
Science Bloggers Association said...
12 March 2009 at 7:52 AM  

बहुत गम्‍भीर सवाल है।

होली की हार्दिक शुभकामनाऍं।

gravatar
संजय भास्कर said...
28 January 2010 at 5:53 PM  

कम शब्दों में बहुत सुन्दर कविता।
बहुत सुन्दर रचना । आभार
ढेर सारी शुभकामनायें.

Sanjay kumar
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

gravatar
'अदा' said...
1 February 2010 at 6:58 AM  

बहुत मजेदार जी..

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 5:13 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय