feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

जुकाम से परेशान है ???

.


अरे बाबा आप जुकाम से परेंशा है कोई बात नही, हम देते है नया आईडिया, बहती नाक कुछ यू पोछे.......

19 टिपण्णी:
gravatar
MANVINDER BHIMBER said...
2 March 2009 at 4:50 AM  

veri nice .....

gravatar
seema gupta said...
2 March 2009 at 5:05 AM  

" ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha ha really interesting..'
Regards

gravatar
Dr. Amar Jyoti said...
2 March 2009 at 5:35 AM  

पहले क्यों नहीं बताया:)

gravatar
अल्पना वर्मा said...
2 March 2009 at 5:40 AM  

वाह !क्या आईडिया है!

gravatar
अनिल कान्त : said...
2 March 2009 at 5:51 AM  

बहुत खूब रही ...


मेरी कलम - मेरी अभिव्यक्ति

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
2 March 2009 at 6:08 AM  

लो जी पुरी सर्दी बीत गई और आप अब ये इलाज बता रहे हैं.:) कोई बात नही अगले साल के लिये एक भिजवा दिजिये. :)

रामराम.

gravatar
आलोक सिंह said...
2 March 2009 at 6:28 AM  

प्रणाम
बहुत सुन्दर इलाज़ बताया .

gravatar
इष्ट देव सांकृत्यायन said...
2 March 2009 at 8:36 AM  

पहले बताना था न! अब तो नवम्बर-दिसम्बर में ही काम आएगा आप्का आइडिया.

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
2 March 2009 at 10:05 AM  

भाटिया जी
अच्छा आइडिया है लगता है प्रोडक्शन चालू करना पड़ेगा...........
किसी का पेटेंट रजिस्टर तो नहीं

gravatar
शोभा said...
2 March 2009 at 12:48 PM  

हा हा हा आप इतनी गज़ब की तसवीरें कहाँ से लाते हैं ?

gravatar
Gagagn Sharma, Kuchh Alag sa said...
2 March 2009 at 3:09 PM  

भाटिया जी,
आपका भी जवाब नहीं।
पर एक बात कहना नहीं चाहता था क्यूंकि कुछ अभद्र ना हो जाये, पर रोक भी नहीं पाते हुए कन्या से पूछ ही लेता हूं, कि यह 'एक पंथ दो काज वाला' रोल लाई कहां से है?

gravatar
रंजन said...
2 March 2009 at 4:34 PM  

क्या बात है..

gravatar
Udan Tashtari said...
2 March 2009 at 4:45 PM  

किस चीज से पोछना है देख जुकाम ठीक हो गया जी अपने आप, :)

gravatar
neeshoo said...
2 March 2009 at 4:47 PM  

kya baat hai . accha idea hai.

gravatar
Harkirat Haqeer said...
2 March 2009 at 5:05 PM  
This comment has been removed by the author.
gravatar
Harkirat Haqeer said...
2 March 2009 at 5:26 PM  

Halka halka zukam ka asar chal raha tha aapke bhog pe "kya aap zukam se pareshan hain" dekha to to bhagi chli aayi ki koi dadi maa ka nuskha hoga....pr ye kya...??? aap bhi na pta nahi kahan kahan se idia nikalte hain....!!

gravatar
समयचक्र - महेन्द्र मिश्र said...
2 March 2009 at 6:00 PM  
This comment has been removed by the author.
gravatar
समयचक्र - महेन्द्र मिश्र said...
2 March 2009 at 6:01 PM  

वाह क्या नाक पौछने का तरीका है . काश उसकी सूंढ़ होती तो नाक चाट कर सर के ऊपर ले जाकर पौछ लेता हा हा

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 5:18 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय