feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

तुम आज मेरे संग हंसलो ३

.

मोगदिल साहब... भाटिया जी क्या आप को पता है मुझ मे ओर ऒबामा मै क्या समानता है??
मै.........पता नही जनाब?
मोगदिल साहब....अच्छा तो सुनो , मै बताता हुं, ना मै उस के घर जाता हुं , ओर ना ही वो मेरे घर आता है.
*************************************************************
सन्ता... ओए बन्ते तुझे पता है ताज महल कहां है??
बन्ता.... पता नही यार ...
सन्ता.... ओए घर से निकला कर, कुछ पता चले??
बन्ता..... ओये सन्ते तु राम लाल को जानता है, कोन है वो??
सन्ता..... नही तो, कोन है वो ??
बन्ता..... ओए कभी घर भी रहा करो तो पता चले.
****************************************************************
सन्ता.... बन्ते खुशखबरी ??
बन्ता..... क्या, कोन सी??
सन्ता..... यार मै ओर मेरी गर्ल फ़्रेंड शादी कर रहे है?
बन्ता...... ओए कब??
सन्ता...... यार मेरी शादी ७ फ़रवरी को है, ओर उस की शादी ११ मार्च को.

9 टिपण्णी:
gravatar
दिलीप कवठेकर said...
7 February 2009 at 8:56 PM  

ओबामा में और आप में भी एक समानता है.

तुसी दोनो वड्डे पाप्युलर हो जी...

gravatar
PD said...
7 February 2009 at 10:00 PM  

ओह!! संता की शादी तो मिस हो गई.. रिसेप्शन कब है जी? उसी का भोज खा लेंगे.. :)

gravatar
mehek said...
8 February 2009 at 3:38 AM  

ha ha bahut khub))

gravatar
Anil Pusadkar said...
8 February 2009 at 4:19 AM  

दिलीप जी से सहमत हूं।

gravatar
विनय said...
8 February 2009 at 4:43 AM  

bahut achchhe vyangkar ko fansaa liya vyang mein,

gravatar
Gagagn Sharma, Kuchh Alag sa said...
8 February 2009 at 4:55 AM  

बहुत खूब।

gravatar
आलोक सिंह said...
10 February 2009 at 8:38 AM  

बहुत अच्छे चुटकुले हैं . आंनद आ गया .
धन्यवाद .

gravatar
गौतम राजरिशी said...
10 February 2009 at 5:51 PM  

हो हो हो...तीनों के तीनों लाजवाब

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 5:31 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय