feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

बस सामने मोत खडी है??

.















बोलते चित्र, यह चित्र खुद ही बोल रहे है.







15 टिपण्णी:
gravatar
आशीष कुमार 'अंशु' said...
5 January 2009 at 6:49 AM  

कहाँ से जुताई ये 'खतरनाक' तस्वीरें ?

gravatar
seema gupta said...
5 January 2009 at 6:56 AM  

" बाप रे बाप रोंगटे खडे कर देने वाली मौत की तस्वीरें..."

regards

gravatar
अशोक पाण्डेय said...
5 January 2009 at 7:11 AM  

सही बात है, जिंदगी का क्‍या भरोसा..एक पांव तो हमेशा मौत के कगार पर ही रहता है।

gravatar
Amit said...
5 January 2009 at 8:10 AM  

बहुत सही....साक्षात मौत के दर्शन हो गए...

gravatar
महेंद्र मिश्रा said...
5 January 2009 at 8:29 AM  

इन फोटो को देखते ही लग रहा है कि मौत का मंजर सामने खड़ा है . बड़े चुनिदा रोमांचित फोटो चुने है राज जी आपने . धन्यवाद्.

gravatar
सुशील कुमार छौक्कर said...
5 January 2009 at 8:50 AM  

पहले तो ये बताईए जी कि ये तस्वीर सही हैं। या हाथ का हुनर भी इसमें। पर जो भी दिल दहला देने वाला हैं। मै अगर इतनी ऊँचाई देखो तो शायद बेहोश ही हो जाऊँ। शुक्रिया।

gravatar
Mired Mirage said...
5 January 2009 at 8:55 AM  

बहुत जबर्दस्त !
घुघूती बासूती

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
5 January 2009 at 1:20 PM  

हम तो इनको देख कर सारी ताऊगिरी भूल गये जी.

रामराम. ही याद रहा सिर्फ़.

gravatar
Arvind Mishra said...
5 January 2009 at 2:18 PM  

भयंकर !

gravatar
कुश said...
5 January 2009 at 2:50 PM  

बढ़िया चित्र है जी..

gravatar
गौतम राजरिशी said...
5 January 2009 at 5:07 PM  

क्या खतरनाक तस्वीरें हैं...वो ट्रेन वाली सच की है क्या?

gravatar
सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी said...
5 January 2009 at 6:48 PM  

जमाए रहिए जी, वाकई बोलते चित्र हैं...।

gravatar
अल्पना वर्मा said...
6 January 2009 at 3:27 PM  

draavane manzar hain.

gravatar
bhoothnath(नहीं भाई राजीव थेपडा) said...
14 January 2009 at 6:09 PM  

वाह....वाह....वाह.....वाह....आज तो मजा आ गया......!!मुझे देखकर पेड़ों ने....चट्टानों ने अपना रूप ही बदल लिया....सब मुझसे कित्ता डरते हैं ना....!!

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 6:16 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय