feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

किस पेर को पहले धोऎ???

.

अरे मेरा सर कहां गया भाई? जरा ढुढ के लाओ, मुझे उस की सख्त जरुरत है

10 टिपण्णी:
gravatar
seema gupta said...
30 December 2008 at 4:52 AM  

"amezing, never seen before.."

regards

gravatar
सिद्धार्थ शंकर said...
30 December 2008 at 5:51 AM  

अरा रा...
यह कैसे होता है जी?
:)

gravatar
ताऊ रामपुरिया said...
30 December 2008 at 6:02 AM  

बहुत चकाचक जी ! मजा आगया !

रामराम !

gravatar
सुशील कुमार छौक्कर said...
30 December 2008 at 6:53 AM  

वाह क्या खूब फोटो लाए आप। मजा आ गया जी।

gravatar
Zakir Ali 'Rajneesh' said...
30 December 2008 at 11:05 AM  

सुन्दर फोटो, सटीक विचार।

gravatar
Alag sa said...
30 December 2008 at 1:24 PM  

फोटो खूब, टिप्पणी बहुत खूब

gravatar
Alag sa said...
30 December 2008 at 1:24 PM  

फोटो खूब, टिप्पणी बहुत खूब

gravatar
Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
30 December 2008 at 3:15 PM  

लाजवाब. अर जमीं घणी चौखी

gravatar
अनुपम अग्रवाल said...
30 December 2008 at 7:58 PM  

वाह वाह राज साहब लगता है इस विचित्रता में आपको महारत हासिल है .
उम्मीद है आप और ज्ञान की तरह यह भी बाँटेंगे

gravatar
Pyaasa Sajal said...
31 December 2008 at 4:36 AM  

Nav Varsh ki badhayi ho Sir...
blog ki duniya mein achhe achhe prayog ho rahe hai...aise hi lage rahiye :)

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय