feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

छोटा सा विचार

.

आज का विचार...
बेकार ओर व्यर्थ कार्य जीवन को थका देता है, रचनात्मक कार्य सुख ऒर तेजस्विता बढा देता है.

19 टिपण्णी:
gravatar
अल्पना वर्मा said...
15 October 2009 at 10:28 PM  

saty vachan..

gravatar
हिमांशु । Himanshu said...
15 October 2009 at 11:22 PM  

सुन्दर विचार । आभार ।

gravatar
शरद कोकास said...
16 October 2009 at 1:10 AM  

भाटिया जी हम तो रचना धर्मी है हम से बेहतर कौन जान सकता है इस विचार का महत्व । दिवाली पर आप हमे अपने करीब महसूस करे । शुभकामनायें ।

gravatar
M VERMA said...
16 October 2009 at 3:45 AM  

सारगर्भित विचार -- उत्तम्

gravatar
Dr. Smt. ajit gupta said...
16 October 2009 at 5:32 AM  

सत्‍य वचन।

gravatar
seema gupta said...
16 October 2009 at 5:56 AM  

झिलमिलाते दीपो की आभा से प्रकाशित , ये दीपावली आप सभी के घर में धन धान्य सुख समृद्धि और इश्वर के अनंत आर्शीवाद लेकर आये. इसी कामना के साथ॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए.."
regards

gravatar
सुलभ सतरंगी said...
16 October 2009 at 6:40 AM  

अमृत वचन!

प्रकाशपर्व मंगलमय हो!
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
आपको दीपावली की शुभकामनायें !!
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

gravatar
पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
16 October 2009 at 7:29 AM  

सत्य वचन !
दीपोत्सव की आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनाऎँ!!!!!

gravatar
अल्पना वर्मा said...
16 October 2009 at 8:04 AM  

Raj Sir,आप सहित पूरे परिवार को दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ.

gravatar
ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...
16 October 2009 at 8:18 AM  

सुंदर व्यंजनाएं।
दीपपर्व की अशेष शुभकामनाएँ।
आप ब्लॉग जगत में निराला सा यश पाएं।

-------------------------
आइए हम पर्यावरण और ब्लॉगिंग को भी सुरक्षित बनाएं।

gravatar
mehek said...
16 October 2009 at 8:31 AM  

sunder vichar,aapko aur parivaar ko diwali ki bahut badhai.

gravatar
गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' said...
16 October 2009 at 12:27 PM  

Sahmat
happy dipawali

gravatar
वन्दना अवस्थी दुबे said...
16 October 2009 at 1:23 PM  

दीपावली की बहुत-बहुत शुभकामनायें

gravatar
श्याम कोरी 'उदय' said...
17 October 2009 at 7:36 AM  

"आओ मिल कर फूल खिलाएं, रंग सजाएं आँगन में

दीवाली के पावन में , एक दीप जलाएं आंगन में "

......दीवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ |

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
17 October 2009 at 8:23 AM  

सत्य कहा है ......... भाटिया जी
आपको और आपके परिवार में सभी को दीपावली की शुभकामनाएं ...............

gravatar
दिलीप कवठेकर said...
17 October 2009 at 9:54 AM  

बहुत ही बढिया बात लिखी है.

दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें....

gravatar
Suresh Chnadra Gupta said...
18 October 2009 at 4:56 PM  

अति सुन्दर विचार.

gravatar
ज्योति सिंह said...
22 October 2009 at 11:25 AM  

bahut sahi vachan ,sundar .

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 4:36 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय