feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

कुंदन लाल सहगल भाग 5

.

नमस्कार... लिजिये फ़िर से हाजिर होगया हु सहगल जी के मिठ्ठे मिठ्ठे स्वर मै उन के १० गीत ले कर , अगर आप को पुराने गीत पसंद है तो यह गीतो रुपी फ़ुलो का गुलदस्ता आप सब को पसंद आये गा....
तो लिजिये आगले दस गीत......

Powered by eSnips.com

5 टिपण्णी:
gravatar
seema gupta said...
1 January 2009 at 10:56 AM  

purane geeton ke yadon ko yhan taja kerne ke liye aabhar"

regards

gravatar
समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...
1 January 2009 at 2:18 PM  

नए वर्ष में पुराने गाने सुनकर दिल बाग़ बाग़ हो गया . वाह बहुत खूब जी

gravatar
संदीप शर्मा Sandeep sharma said...
1 January 2009 at 3:23 PM  

नई उमंगों के साथ आए नया वर्ष....

आपको नववर्ष की शुभकामनायें....

gravatar
विनय said...
1 January 2009 at 7:34 PM  

नया साल मुबारक़ हो!

gravatar
P Chatterjee said...
3 November 2016 at 6:17 AM  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय