feedburner

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

कुछ कुछ होता है जी

.

पहचान
जो लोग हमेशा हंसते रहते है, उन्हे हिन्दी मै हंस मुख कहते है.
जिस आदमी का हंसना बन्द हो उसे आग्रेजी मै HUS BAND कहते है.
******************************************
बेटा, पापा मुझे मोटर साईकिल ले कर दो ना.....
ताऊ, बेटा भगवान ने तुझे दो टांगे किस लिये दी है?
बेटा, पापा पापा एक गियर लगाने के लिये, दुसरी ब्रेक लगाने के लिये
*****************************************
करवा चोथ...
एक आधुनिक नारी ने गलती से करवा चोथ का वर्त रख लिया, ओर सुबह सुबह १० बजे अपने पति को बोली बाहर देख कर आओ चांद निकला कि नही, पति भी मेरी तरह से सीधा साधा था, देख कर आया ओर बोला अभी नही, १२ बजे फ़िर बीबी बोली अजी अब देख कर आओ चांद निकला कि नही, पति फ़िर बाहर गया, लेकिन चांद कहां, फ़िर दो बजे पति को भेजा... चार बजे जब पति ने मना किया कि अभी तक चांद नही निकला तो बीबी बोली लगता है आज लगता है आज चांद कि जगह मेरे प्राण ही निकलेगे....
***************************************
बीबी अपने पति से बोली .. जी अब आप ने मेरा घूघट पहली बार उठाया तो आप को केसा लगा था ?
पति.. अगर मुझे हनुमान चालीसा याद ना होता तो कसम से मै मर ही जाता
*****************************************
वो कोन सी जगह है जहां नारियां काम नही करती ? ताऊ ने अपने छोरे से पुछा
छोरा , बापू वो तो फ़ायर बिग्रेड है जी.
ताऊ, उदाहरण दे केसे?
छोरा, बापू लुगाई आग लगान का काम करती है, बुझान का नही.
*********************************************
जज, अपराधी से... तुम आज तीसरी बार आदालत मै आ रहे हो, क्या तुम्हे शर्म नही आती?
अपराधी... जज साहब आप रोजाना अदालत मै आते हो , क्या आप को शर्म आती है?

32 टिपण्णी:
gravatar
राजीव तनेजा said...
8 October 2009 at 8:07 pm  

मज़ेदार

gravatar
संगीता पुरी said...
8 October 2009 at 8:16 pm  

सब एक से बढकर एक !!

gravatar
विनोद कुमार पांडेय said...
8 October 2009 at 8:19 pm  

बहुत खूब..मज़ाल है किसी कि की बिना हँसे रह पाए...

gravatar
Shashwat Shekhar said...
8 October 2009 at 8:24 pm  

ha ha ha. bahut kuch ho gaya :)

gravatar
Khushdeep Sehgal said...
8 October 2009 at 8:26 pm  

राज जी, एक बेचारी गांव की सीधी-साधी लड़की की शादी शहर के हाई-फाई लड़के से हो गई...लड़के ने लड़की से साफ कर दिया कि उसने जल्दी ही अंग्रेजी बोलना नहीं सीखा तो दोनों का साथ गुज़ारा नहीं हो पाएगा...बेचारी मरती क्या न करती, अंग्रेजी सीखनी शुरू कर दी...पति को इम्प्रेस करने के लिए लड़की ने जो पहला वाक्य बोला वो था...तू मेरा हैंड पंप, मैं तेरी पाइप...(यानि तू मेरा हसबैंड और मैं तेरी वाइफ़...)

gravatar
हें प्रभु यह तेरापंथ said...
8 October 2009 at 9:10 pm  

मज़ेदार

gravatar
हें प्रभु यह तेरापंथ said...
8 October 2009 at 9:12 pm  

सबसे मजेदार रहा दो टागे किस के लिऎ है ?

gravatar
हें प्रभु यह तेरापंथ said...
8 October 2009 at 9:13 pm  

यह भी कुछ कम मजेदार नही- "आज चांद कि जगह मेरे प्राण ही निकलेगे....

gravatar
हें प्रभु यह तेरापंथ said...
8 October 2009 at 9:18 pm  

’अगर मुझे हनुमान चालीसा याद ना होता तो कसम से मै मर ही जाता..........
गजब जी...........गजब...........

gravatar
Pt. D.K. Sharma "Vatsa" said...
8 October 2009 at 9:53 pm  

:) अगर मुझे हनुमान चालीसा याद ना होता तो कसम से मै मर ही जाता.........

:) लगता है आज चांद कि जगह मेरे प्राण ही निकलेगे....

हा हा हा....भाटिया जी, आपने हसाने का कोई डिग्री कोर्स कर रखा है के ?
:)

gravatar
Udan Tashtari said...
9 October 2009 at 12:10 am  

सभी मजेदार..खुशदीप जी ने मजा और लगा दिया.

आखिरी वाले से एक पहले वाले को हमने नहीं पढ़ा अतः उस पर कोई कमेंट नहीं (सेफ रहना बेहतर है सॉरी से) :)

gravatar
M VERMA said...
9 October 2009 at 1:17 am  

वाह! मज़ेदार है सब की सब

gravatar
Arvind Mishra said...
9 October 2009 at 3:12 am  

नहले पर एक से एक दहले ! क्या खूब भाटिया जी !

gravatar
दिनेशराय द्विवेदी said...
9 October 2009 at 5:11 am  

ये हनुमान चालीसा बहुत काम आती है।

gravatar
डॉ महेश सिन्हा said...
9 October 2009 at 5:46 am  

:):):)

gravatar
seema gupta said...
9 October 2009 at 5:52 am  

हा हा हा हा हा हा हा एक से बढ़ कर एक

regards

gravatar
Murari Pareek said...
9 October 2009 at 6:30 am  

भाटियाजी आनंदम आगच्छ्सी ! मजेदार कलेक्शन !

gravatar
mehek said...
9 October 2009 at 6:42 am  

waah mazedar:)

gravatar
पी.सी.गोदियाल "परचेत" said...
9 October 2009 at 6:43 am  

पहचान
जो लोग हमेशा हंसते रहते है, उन्हे हिन्दी मै हंस मुख कहते है.
जिस आदमी का हंसना बन्द हो उसे आग्रेजी मै HUS BAND कहते

ha-ha-ha...बहुत सुन्दर भाटिया साहब !

gravatar
Anil Pusadkar said...
9 October 2009 at 6:52 am  

भाटिया जी अभी तक़ हंसमुख ही हूं,HUS BAND नही हुआ हूं। हा हा हा हा हा मज़ा आ गया।

gravatar
अन्तर सोहिल said...
9 October 2009 at 7:37 am  

कुछ कुछ नही बहुत हंसी आयी है जी

प्रणाम

gravatar
SELECTION - COLLECTION SELECTION & COLLECTION said...
9 October 2009 at 8:43 am  

sunder सभी मजेदार..

gravatar
दिगम्बर नासवा said...
9 October 2009 at 1:54 pm  

हा.. हां....... हा ... कमाल के भाटिया जी सब कमाल के हैं .... एकदम ताजा .........

gravatar
सुशील छौक्कर said...
9 October 2009 at 2:55 pm  

ये ताऊ जी तो कमाल है जी। जहाँ होते है बस अपना रंग बिखेरते है।

gravatar
डा. अमर कुमार said...
9 October 2009 at 7:39 pm  



गूगल सर्च से आपका लिंक ढ़ूँढ़ा है, भाटिया जी ।
कसम ख़ुदा की, थकान उतर गयी,
जोर जोर से पढ़ने लग पड़ा
रूठी बीबी भी पट गयी
शुक्रिया जी !

gravatar
निर्मला कपिला said...
10 October 2009 at 7:19 am  

हा हा हा बदिया जी बधाइ

gravatar
ज्योति सिंह said...
12 October 2009 at 5:15 pm  

sab ek se badhkar ek .man khush ho gaya padhte huye .

gravatar
स्वप्न मञ्जूषा said...
12 October 2009 at 10:26 pm  

Tabhi ham kahen aaj tak hamre HAS BAND hanumaan chaleesa kahe padhtein hain !!!!
ha ha ha ha ha

gravatar
स्वप्न मञ्जूषा said...
12 October 2009 at 10:28 pm  
This comment has been removed by the author.
gravatar
स्वप्न मञ्जूषा said...
13 October 2009 at 12:32 am  

ham to kahtein hain jinki HANSI KI BAND BAJ GAYI HO unhen HUS BAND kahte hain...
ha ha ha ha ha

gravatar
चाहत said...
23 October 2009 at 2:17 pm  

हंसाने के लिए
धन्यवाद

gravatar
Unknown said...
3 November 2016 at 4:39 am  


दोस्त की बीवी

डॉली और कोचिंग टीचर

कामवाली की चुदाई

नाटक में चुदाई

स्वीटी की चुदाई

कजिन के मुहं में लंड डाला

Post a Comment

Post a Comment

नमस्कार,आप सब का स्वागत हे, एक सुचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हे, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी हे तो माडरेशन चालू हे, ओर इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा,नयी पोस्ट पर कोई माडरेशन नही हे, आप का धन्यवाद टिपण्णी देने के लिये

टिप्पणी में परेशानी है तो यहां क्लिक करें..
मैं कहता हूं कि आप अपनी भाषा में बोलें, अपनी भाषा में लिखें।उनको गरज होगी तो वे हमारी बात सुनेंगे। मैं अपनी बात अपनी भाषा में कहूंगा।*जिसको गरज होगी वह सुनेगा। आप इस प्रतिज्ञा के साथ काम करेंगे तो हिंदी भाषा का दर्जा बढ़ेगा। महात्मा गांधी अंग्रेजी का माध्यम भारतीयों की शिक्षा में सबसे बड़ा कठिन विघ्न है।...सभ्य संसार के किसी भी जन समुदाय की शिक्षा का माध्यम विदेशी भाषा नहीं है।"महामना मदनमोहन मालवीय